Monday, 24 December 2018

विश्व हिन्दू परिषद द्वारा निकाली गई श्री राम शौर्य यात्रा


"विश्व हिन्दू परिषद" मालवा प्रान्त, महू द्वारा धार्मिक अनुष्ठान एवं श्री राम शौर्य यात्रा सम्पन्न

अयोध्या में भगवान श्री राम जी की जन्मभूमि पर श्री राम मंदिर पुननिर्माण के लिए सम्पूर्ण राष्ट्र में विशाल धर्मसभाये आयोजित हो रही है .. इसी श्रृंखला के अंतर्गत महु जिले की समस्त प्रखंडों की शौर्य यात्रा व धर्म सभा स्थानीय उत्तम गार्डन महु में दिनांक 23/12/2018 को आयोजित की गई... हज़ारों की संख्या में स्वयंसेवी कार्यकर्ताओं ने आयोजन को सफल बनाया ...

श्री राम शौर्य यात्रा मैं मुख्य रूप से संत श्री 1008 ब्रह्मानंद सरस्वती महाराज कालाकुंड, संत श्री स्वामी अरुणानंद जी महाराज, इंदौर, महू गुरूसिन्ध सभा के अध्यक्ष श्री हर्षित जी भाटिया, प्रान्त संघठन मंत्री श्री ब्रजकिशोर जी भार्गव, श्री वेदप्रकाश जी त्रिपाठी, प्रान्तीय सदस्य, जिला अध्यक्ष प्रकाश खण्डेलवाल, जिला धर्मप्रसार प्रमुख नीलेश जी बिवाल उपस्थित थे..

श्री ब्रजकिशोर जी भार्गव ने श्री राम जी के मंदिर निर्माण में आ रही बाधा के बारे में बताया, उन्होंने बताया कि बहुत जल्द अयोध्या में श्री राम मंदिर निर्माण शुरू होना चाहिये..

Saturday, 3 November 2018

स्वस्तिक बनाने की सही विधि एवं महत्त्व क्या हैं ?


प्रिय पाठक, आज हम आपको स्वास्तिक बनने की सही विधि के विषय मैं बताने जा रहे हैं। दोस्तो अक्क्षर लोग स्वास्तिक को बीच से काट कर बनाते हैं क्या आप जानते है की यह विधि गलत हैं और इसी कारण हमें इसका पूर्ण परिणाम प्राप्त नहीं होता हैं ।

गणेश पुराण के अनुसार स्वस्तिक को भगवान श्रीगणेश का स्वरूप माना गया हैं। इस चिन्ह में प्रत्येक विध्नों अौर अमंगल का नाश करने के गुण हैं। स्वस्तिक को हिंदू धर्म में ही नहीं अपितु सभी धर्मों में पवित्र माना गया हैं। पुराणों में स्वस्तिक को देवी लक्ष्मी का प्रतीक माना हैं। स्वस्तिक का चिन्ह बनाने से घर में धन अौर सकारात्मक ऊर्जा का आगमन होती हैं। घर में भिन्न प्रकार से स्वस्तिक बनाने से सुख-शांति, व्यापार में उन्नति अौर सौभाग्य में वृद्धि होती हैं।